January 23, 2020

उम्र से पहले बाल सफ़ेद क्यों होते है? कैसे बचें? (Causes of premature greying of hair and prevention )

देखा जाये तो उम्र के साथ बालों का रंग बदलना सामान्य बात है। लेकिन कुछ लोगों के साथ उम्र से पहले ही बालों का सफ़ेद होना देखा जा सकता है, यहाँ तक कि 20 साल के नव जवानों में भी।

इंसान के शरीर में त्वचा के निचे लाखों छोटी छोटी थैलियां होती है। यही थैलियां ही बाल और रंग द्रव्य (Colour pigments ) बनाती है जिसमें मेलानिन होता है। समय के साथ ये थैलियां रंग द्रव्य खो देती है जिससे बालों का रंग सफ़ेद हो जाता है।

बालों के सफ़ेद होने के पिछे निम्न कारण हो सकते है –

  1. बहुत ज्यादा तनाव
  2. धूम्रपान सेवन
  3. शरीर में विटामिन का अभाव
  4. केमिकल हेयर डाई का प्रयोग

1 .बहुत ज्यादा तनाव

कुछ एक्सपर्ट्स का कहना है कि ज़िन्दगी में बहुत ज्यादा तनाव होना भी बालों के सफ़ेद होने का एक कारण है। ज्यादा तनाव से रक्त धाराएं संकुचित हो जाती है जिससे आवश्यक पोषक तत्व सिर तक नहीं पहुंच पाते जिससे बालों का झड़ना या सफ़ेद होना, होता है। तनाव के करण पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन (oxygen) नहीं पहुंच पाता जो भी एक कारण है।

2 .धूम्रपान सेवन

धूम्रपान सेवन भी इसका एक कारण है। शोधकर्ताओं ने देखा है कि धूम्रपान करने वालों के बाल के सफ़ेद होने कि संभावन, नहीं करने वालों के अपेक्षा, दो गुना ज्यादा है।

3 . शरीर में विटामिन का अभाव

शरीर में विटामिन (जैसे बी-6 , बी -12 , विटामिन डी या इ ) का अभाव बालों के सफ़ेद होने का कारण हो सकता है। अगर विटामिन का सप्लीमेंट लिया जाये तो बालों के रंग का वापस आने की संभावना है। 25 उम्र तक के भारतीयों के साथ हुई एक स्टडी में देखा गया है कि शरीर में आयरन , विटामिन बी 12 कि कमी के कारण ही बाल सफ़ेद हुए थे।

4 .केमिकल हेयर डाई का प्रयोग

केमिकल हेयर डाई और शैम्पू भी उम्र से पहले बालों के सफ़ेद होने का कारण हो सकता है। ऐसे उत्पादों को बनाने में हानिकारक केमिकल सामग्री का इस्तेमाल किया जाता है जिससे मेलेनिन का मात्रा घटता है। हाइड्रोजन पेरोक्साइड इसका अच्छा उदहारण है जो की हेयर डाई में उपयोग किया जाता है।

इससे कैसे बचें

इससे बचने का सबसे आसान तरीका है अपने खाने में बदलाव करके। हमें ज्यादा से ज्यादा ऐसे आहार खाने होंगे जिसमें एंटी ऑक्सीडेंट्स (anti – oxidants) की मात्रा अधिक होती है। जैसे फूल और सब्जियाँ , ग्रीन टी आदि।

जिसको विटामिन की कमी के कारण सफ़ेद बालों कि शिकायत है उन्हें ऐसे आहार लेना चाहिए जिससे विटामिन बी 12 और विटामिन डी की कमी दूर हो। दूध , मशरुम और अन्य डेयरी उत्पाद विटामिन कि कमी को दूर करता है।

धूम्रपान त्याग करके भी बालों के सफ़ेद होना को रोका जा सकता है।

सफ़ेद बाल से बचने का घरेलु तरीका

करी पत्ता. करी पत्ता (curry leaves) को हेयर आयल के साथ मिलाकर सिर पर लगाने से बालों के सफ़ेद होने में कमी आ सकती है। करी पत्ता बाजार में आसानी से उपलब्ध भी है।

भृंगराज पत्ता. भृंगराज पत्ता का रस निकालकर नारियल तेल में गर्म करके बालों पर मसाज करने से यह बालों को काला करने में मदद करता है।

आँवला. आँवला का पाउडर को नारियल तेल के साथ मिलाकर सर पर लगाने से यह बहुत प्रभावी होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.